Loading...

बच्चों का नाम सुनते ही मासूमियत, भोलापन, मस्तीख़ोरी जैसे चेहरे आंखों के सामने आ जाते हैं। आती हैं। बच्चे शरारती होते हैं, उनके क्रिया -कलापों को आप तर्क की कसौटी पर नहीं कस सकते। वे यदि अपने माता-पिता के साथ भी कहीं मेहमान बन के जाएं, तो ज्यादा देर संजीदगी से नहीं रह सकते। वे जल्दी ही अनौपचारिक हो जाते हैं और उतर आते हैं अपनी शरारतों पर।

तो आज हम आपके लिए बच्चों की मस्तीखोरी की कुछ ऐसी ही तस्वीरें लेकर आए हैं। इन्हें देखकर आप भी मान जाएंगे बच्चों के दिमाग को। वैसे आपको हँसी आए तो आप हँस भी सकते हैं।

ये देखो इन्हे कोई रोक भी नहीं सकता ऐसी हरकत करते हुए

अरे भाई आखिर इतना झुक कर क्या देखना चाहते हो

सर्दी में बारिश कैसे होने लग गयी

click next ….

Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

Facebook Comments
Loading...
SHARE